Iss Shahar Ki Bheed Mein

Iss Shahar Ki Bheed Mein Chehre Saare Ajnabi,
Rahnuma Hai Har Koi Par Rasta Koi Nahi,
Apni Apni Kismaton Ke Sabhi Maare Yahan,
Ek-Duje Se Kisi Ka Wasta Koi Nahi.


इस शहर की भीड़ में चेहरे सारे अजनबी,
रहनुमा है हर कोई, पर रास्ता कोई नहीं,
अपनी-अपनी किस्मतों के सभी मारे यहाँ,
एक-दूजे से किसी का वास्ता कोई नहीं।