Haath Khali Hain Tere Shahar Se Jate Jate,

Haath Khali Hain Tere Shahar Se Jate Jate,
Jaan Hoti Toh Meri Jaan Lutate Jate,
Ab Toh Har Haath Ka Patthar Humein Pehchanta Hai,
Umr Gujri Hai Tere Shahar Mein Aate Jate.


हाथ ख़ाली हैं तेरे शहर से जाते जाते,
जान होती तो मेरी जान लुटाते जाते,
अब तो हर हाथ का पत्थर हमें पहचानता है,
उम्र गुज़री है तेरे शहर में आते जाते।

Na Jaane Kitni Ankahi Baatein,

Na Jaane Kitni Ankahi Baatein,
Kitni Hasrate Saath Le Jayenge,
Log Jhoothh Kehte Hain Ke,
Khali Haath Aaye The Aur Khali Haath Jayenge.


ना जाने कितनी अनकही बातें,
कितनी हसरतें साथ ले जाएगें
लोग झूठ कहते हैं कि
खाली हाथ आए थे और खाली हाथ जाएगें।