Iss Shahar Ki Bheed Mein

Iss Shahar Ki Bheed Mein Chehre Saare Ajnabi,
Rahnuma Hai Har Koi Par Rasta Koi Nahi,
Apni Apni Kismaton Ke Sabhi Maare Yahan,
Ek-Duje Se Kisi Ka Wasta Koi Nahi.


इस शहर की भीड़ में चेहरे सारे अजनबी,
रहनुमा है हर कोई, पर रास्ता कोई नहीं,
अपनी-अपनी किस्मतों के सभी मारे यहाँ,
एक-दूजे से किसी का वास्ता कोई नहीं।

Tera Chehra Toh

Yaar Toh Ayina Hua Karte Hain Yaaron Ke Liye,
Tera Chehra Toh Abhi Tak Hai Naqaabon Wala,
Mujhse Hogi Nahi Duniya Ye Tizarat Dil Ki,
Main Karoon Kya Mera Jahaan Hai Khwabon Wala.


यार तो आइना हुआ करते हैं यारों के लिए,
तेरा चेहरा तो अभी तक है नकाबों वाला,
मुझसे होगी नहीं दुनिया ये तिजारत दिल की,
मैं करूँ क्या कि मेरा जहान है ख्वाबों वाला।